किसान विकास पत्र योजना की जानकारी – Kisan Vikas Patra Yojana ki Jankaari

किसान विकास पत्र (KVP) योजना की जानकारी, विकास पत्र योजना लाभ कैसे ले, किसान विकास पत्र कैसे ख़रीदे, Kisan Vikas Patra Yojana ki Jankaari in Hindi.

नमस्कार दोस्तों Abletricks.Com मे आपका स्वागत है. आज हम इस लेख मे किसान विकास पत्र योजना (Kisan Vikas Patra Yojana) के बारे मे जानकारी देने वाले है. यकीनन, यह जानकारी कई लोगों के लिए उपयोगी साबित हो सकती है. इसलिए कृपया इस लेख को अंत तक जरूर पढ़े.

. .
Kisan Vikas Patra Yojana ki Jankaari

किसान विकास पत्र योजना की जानकारी – Kisan Vikas Patra Yojana ki Jankaari in Hindi

किसान विकास पत्र योजना की शुरुआत – Initiation of Kisan Vikas patra Yojana

किसान विकास पत्र (KVP) इस योजना को भारत के प्रधान मंत्री द्वारा वर्ष 2014 में फिर से शुरू किया गया है. दरअसल इस योजना की शुरुआत वर्ष 1998 में हुई थी. लेकिन वर्ष 2011 में किसी कारणवश इसे बंद कर दिया गया था. किंतुं अब यह किसान विकास पत्र योजना 2014 में भारत के प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा फिर से शुरू की गई है. तो चलिए अब हम सबसे पहले यहाँ जानते हैं कि किसान विकास पत्र का क्या अर्थ है, किसान विकास पत्र क्या है, आदि. के बारे में.

 

. .

किसान विकास पत्र क्या है – What is Kisan Vikas Patra, What is KVP?

किसान विकास पत्र: यह पोस्ट ऑफिस (Post office) की एक प्रकार की बचत योजना है, जिसमें खरीदार को एक प्रमाणपत्र दिया जाता है. जिसे कोई भी व्यक्ति अपने लाभ के लिए खरीद सकता है और उस पर मिलने वाले ब्याज का भी लाभ उठा सकता है. इसमें, खरीदार को निर्धारित समय के बाद दोगुनी राशि मिलती है. आइए इस प्रमाणपत्र और इसकी नीतियों को अच्छी तरह समझते हैं.

 

किसान विकास पत्र (Kisan Vikas Patra) लाभ कौन और कैसे ले सकते है?

  • किसान विकास पत्र (KVP) योजना का लाभ कोई भी व्यक्ति ले सकता है. इसमें, सबसे अच्छी बात यह है कि 18 वर्ष से कम आयु का कोई भी व्यक्ति इस योजना का लाभ ले सकता है.
  • इसमें सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि आप किसान विकास पत्र खरीदते हैं तो निर्धारित समय के बाद आपको दोगुना पैसा मिलता है.
  • जो लोग किसान विकास पत्र खरीदना चाहते हैं, उन्हें भारत का नागरिक होना चाहिए. एनआरआई इस योजना में निवेश नहीं कर सकते हैं.
  • आप इस योजना के तहत एकल और संयुक्त दोनों तरह के खाते खोल सकते हैं. इसमें ऐसी कोई शर्त नहीं है.
  • किसान विकास पत्र योजना में तीन प्रकार के प्रमाण पत्र खरीदे जा सकते हैं, जिनका विभिन्न तरीकों से लाभ उठाया जा सकता है.
  1. एकल धारक प्रमाण पत्र (Single holder certificate): इसमें, यह मैच्योरिटी के समय निवेशक को पैसा दिया जाता है.
  2. संयुक्त ए प्रकार का प्रमाण पत्र (Joint A type certificate): इसमें निवेशक या उत्तरजीवी दोनों को पैसा दिया जाता है.
  3. संयुक्त बी प्रकार का प्रमाण पत्र (Joint B type certificate): इसमें किसी एक निवेशक या उत्तरजीवी को पैसा दिया जाता है.
  • किसान विकास पत्र बैंकों और डाकघरों से खरीदा जा सकता है. इसके लिए कुछ आवश्यक दस्तावेजों की आवश्यकता होती है जिनके बारे में आपको जानकारी प्राप्त होगी.
  • इसके बारे में सबसे अच्छी बात यह है कि सरकार किसान विकास पत्र खरीदने वाले लोगों को बेहतर रिटर्न दे रही है. बता दे कि इस स्कीम में ब्याज दर 7.7 फीसदी तक है जो बैंक एफडी (Bank FD) से भी ज्यादा है.

 

किसान विकास पत्र योजना में कितना निवेश कर सकते है – How much can invest in the Kisan Vikas Patra scheme

किसान विकास पत्र योजना में, आप न्यूनतम 1000 रुपये से निवेश कर सकते हैं. इसमें अधिकतम निवेश की कोई सीमा नहीं है. आप इसमें अपने मन मुताबिक 1000, 5000, 10000, 50000 इस तरह निवेश कर सकते हैं. इसमें आपको सारा पैसा एक बार में ही देना होगा, यानी इसमें हर महीने या साल में पैसे जमा करने का सिस्टम नहीं है. इसकी अधिक जानकारी आप पोस्ट ऑफिस और बैंक से भी प्राप्त कर सकते हैं. 

. .

 

मैच्योरिटी से पहले पैसा निकाला जा सकता है – Money can be withdrawn before maturity

किसान विकास पत्र योजना (Kisan Vikas Patra Yojana) में आप आपातकाल में मैच्योरिटी से पहले अपना फंड निकाल सकते हैं, लेकिन इसके लिए 2.5 वर्ष होना आवश्यक है. मैच्योरिटी से पहले पैसा निकालने पर उस पर तय इंटरेस्ट से 2 फीसदी घटाकर पूरी राशि वापस मिल जाएगी. इसमें प्रमाण पत्र धारक की मृत्यु की स्थिति में पूरे पैसे ब्याज सहित दिए जाते हैं.

 

किसान विकास पत्र योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज – Documents required for Kisan Vikas Patra scheme

. .
  • यह प्रमाणपत्र ख़रीदने के लिए आपके पास आयड़ेंटी प्रूफ (आधार कार्ड, इलेक्शन कार्ड, राशन कार्ड या ड्राइविंग लाइसेन्स) होना अनिवार्य है. इसके अलावा, आवेदक के पास दो पासपोर्ट साइज फोटो होना अनिवार्य है.
  • यदि आवेदक की आय 50000 से अधिक है, तो आवेदक को पैन कार्ड की आवश्यकता होती है.
  • आवेदक के पास एड्रेस प्रूफ होना चाहिए. एड्रेस प्रूफ में, आप अपने घर का बिजली बिल, टेलीफोन बिल या बैंक पासबुक भी उपयोग कर सकते हैं.

 

किसान विकास पत्र योजना के फायदे – Benefits of Kisan Vikas Patra Yojana

  • यदि कभी लाभार्थी का यह प्रमाण पत्र खो जाता है या चोरी हो जाता है, तो वह उसे डाकघर या बैंक से फिर से प्राप्त कर सकता है.
  • ये पोस्ट ऑफिस की योजना है इसलिए इस योजना में पैसे डूबने के चांस भी नहीं है.
  • इस योजना का लाभ न्यूनतम निवेश में भी लिया जा सकता है, केवल 1000 रुपए में.
  • इस योजना में ब्याज दर 7.7 फीसदी तक है जो बैंक एफडी से भी ज्यादा है.
  • इस योजना में निवेश करने के बाद जरुरत पड़ने पर मैच्योरिटी से पहले पर 2.5 वर्ष के बाद पैसे निकाल भी सकते है.
  • आप इस प्रमाण पत्र को किसी दूसरे डाकघर या बैंक में ट्रांसफर भी कर सकते है. लेकिन यह प्रमाण पत्र खरीदने के 1 साल बाद यह प्रक्रिया की जा सकती है.

दोस्तों इस लेख में हमने आपको “किसान विकास पत्र योजना” से जुड़ी सभी आवश्यक जानकारी दी है. हमें पूरी उम्मीद है कि यह लेख आपके लिए उपयोगी रहा होगा. यदि हाँ, तो इस लेख को अधिक से अधिक लोगों के साथ शेयर करें. दोस्तों, यदि इस लेख से संबंधित किसी का कोई भी सुझाव या सवाल हैं तो वह हमें कमेंट करके पूछ सकते है.

Author: Sagar

Related keyword: किसान विकास पत्र (KVP) योजना की जानकारी, विकास पत्र योजना लाभ कैसे ले, किसान विकास पत्र कैसे ख़रीदे, Kisan Vikas Patra Yojana ki Jankaari in Hindi.

यह लेख भी जरुर पढ़े

Advertisment..
4 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *