प्रधानमंत्री रोजगार प्रोत्साहन लोन योजना की जानकारी | PMRPY ki Jankari n Hindi

प्रधानमंत्री रोजगार प्रोत्साहन लोन योजना (PMRPY) की जानकारी. प्रधान मंत्री रोजगार प्रोत्साहन लोन योजना के तहत लोन कैसे ले. इस योजना का लाभ उठाने के लिए क्या शर्तें हैं? Pradhan mantri Rojagar Protsahan Loan Yojana ki Jankaari, PMRPY ki Jankari n Hindi.

. .
PMRPY ki Jankari n Hindi

नमस्ते दोस्तों Abletricks.Com पर आप सभी का स्वागत है. आज हम इस लेख में प्रधानमंत्री रोजगार प्रोत्साहन लोन योजना (PMRPY) की जानकारी देने जा रहे. यह जानकारी देश के कई बेरोजगारों के लिए उपयोगी साबित हो सकती है. इस लेख में हम जानेंगे कि प्रधानमंत्री रोजगार प्रोत्साहन लोन योजना के माध्यम से बेरोजगारों को क्या लाभ मिलेगा, कैसे लाभ मिलेगा. प्रधानमंत्री रोजगार प्रोत्साहन लोन योजना का उद्देश्य तथा इस योजना से जुडी संपूर्ण जानकारी.

 

प्रधानमंत्री रोजगार प्रोत्साहन लोन योजना का महत्त्व और परिचयPMRPY ki Jankari

सोने की चिड़िया कहे जाने वाले हमारे भारत देश की हालत ऐसी हो गई है कि आजादी के इतने साल बाद भी हमारा देश हर दिन कुछ न कुछ समस्याओं से जूझ रहा है. आज देश के सामने जो समस्या हैं, वो बहुत ही गंभीर हैं, यह समस्या बेरोजगारी है. बेरोजगारी किसी भी देश के विकास में प्रमुख बाधाओं में से एक है. जिनके पास सही कौशल है, उनके पास कोई काम नहीं है, योग्य शिक्षा होने के बावजूद भी कोई नौकरी नहीं है. यह कहना गलत नहीं होगा कि बेरोजगारी देश के लिए अभिशाप बन गई है.

देश में बेरोजगारी का मुख्य कारण बढ़ती जनसंख्या है. जनसंख्या के आंकड़े आसमान छू रहे हैं और रोजगार के अवसर कम हो रहे हैं. बेरोजगारी एक ऐसी समस्या है, जिसके कारण न केवल उत्पादक शक्ति कम हो रही है, बल्कि देश का विकास भी बाधित हो रहा है. बेरोजगारी की समस्या को कम करने के लिए सरकार को कुछ ऐसे उपाय करने होंगे, जिससे कुछ हद तक बेरोजगारी कम जाएं.

. .

बेरोजगारी को कम करने के लिए, हमें जनसंख्या वृद्धि को नियंत्रित करना होगा. बेरोजगारी के कारण देश में लाखों लोग नौकरी की तलाश में भटक रहे हैं और इसी समस्या को देखते हुए, श्री नरेंद्र मोदी ने प्रधानमंत्री रोजगार प्रोत्साहन लोन योजना (PMRPY) शुरू की है.

 

प्रधानमंत्री रोजगार प्रोत्साहन लोन योजना की शुरुआत और इसका उद्देश्य PMRPY ki Jankari

प्रधानमंत्री रोजगार प्रोत्साहन लोन योजना (PMRPY) केंद्र सरकार और श्रम मंत्रालय के माध्यम से अगस्त 2016 को शुरू की गई है. इस योजना का मुख्य उद्देश्य छोटे स्तर के कर्मचारियों को एवं बेरोजगारों को रोजगार प्रदान करना है और जो लोग इन्हें रोजगार देंगे, उन्हें सरकार की तरफ से वित्तीय सहायता दी जाएगी. प्रधान मंत्री रोजगार प्रोत्साहन योजना नियोक्ताओं को नई नौकरियों को प्रोत्साहित करने के लिए डिज़ाइन की गई है. आपको बता दें कि यह योजना ईपीएफ (EPF) से जुड़ी हुई है.

यदि आप एक छोटा व्यवसाय कर रहे हैं और आप ईपीएफ विभाग में पंजीकृत हैं, तो आप इस योजना का लाभ उठा सकते हैं, अन्यथा आप इस योजना का लाभ नहीं ले पाएंगे. इसलिए यह जरुरी है कि आप ईपीएफ से जुड़े हों. इसके बारे में आपको बता दे कि जिन कंपनियों या संस्थानों में 20 या उससे अधिक कर्मचारी होते हैं, उन सभी को ईपीएफओ में पंजीकरण करना होता है.

इसके अलावा आपके पास एलआईएन नंबर (Labour Identification Number) भी होना अनिवार्य है. तभी आप इस योजना का लाभ ले सकते है. आइए अब आगे जानते हैं इस योजना के तहत मिलने वाले लाभों के बारे में.

. .

 

प्रधानमंत्री रोजगार प्रोत्साहन लोन योजना (PMRPY) के लाभPMRPY ki Jankari

जैसा कि हमने ऊपर बताया है क़ि, इस योजना का लाभ लेने के लिए आपका ईपीएफ विभाग (EPF Department) में पंजीकरण होना अनिवार्य, तभी आपको इस योजना का लाभ मिलेगा, अन्यथा नहीं. आइए अब विस्तार से जानते हैं कि इस योजना के तहत आपको और बेरोजगारों को क्या लाभ मिलेगा, इसके बारे में.

  • इस योजना के तहत बिजनेस सेक्‍टर में 2 लाख, सर्विस सेक्‍टर में 5 लाख, इंडस्‍ट्री सेक्‍टर में 5 लाख और पार्टनरशीप में 10 लाख रुपये तक लोन मिल सकता है.
  • बिजनेस और सर्विस क्षेत्र में लोन लेने वाले व्यक्ति के लिए कोई गारंटी या सुरक्षा अनिवार्य नहीं है. इसमें सभी प्रतिभागियों को 2 लाख तक की छूट दी जाएगी.
  • प्रधानमंत्री रोजगार प्रोत्साहन लोन योजना के तहत, छोटे व्यवसायी को 5 लाख रुपये तक की बीमा राशि निर्धारित की गई है.
  • आपको बता दें कि प्रधानमंत्री रोजगार प्रोत्साहन लोन योजना के तहत 12% सब्सिडी भी उपलब्ध है, जो प्रति व्यक्ति 12,500 रुपये तक सीमित है.
  • उत्तर-पूर्वी राज्यों, हिमाचल प्रदेश, उत्तरांचल, जम्मू और कश्मीर क्षेत्रों के लिए सब्सिडी 15,000 रुपये तक ही सीमित है.
  • इसमें एक और लाभ है, जो नियोक्ताओं को ईपीएफ में 8.33 प्रतिशत पैसा जमा करना पड़ता है, वो पैसा आपको 3 साल तक जमा नहीं करना पड़ेगा, सरकार इसे जमा करेगी. अर्थात, भारत सरकार नए रोजगार के लिए नियोक्ताओं को 8.33% ईपीएफ योगदान का भुगतान करेगी.
  • इस योजना के तहत, बेरोजगारों को काम देने वाले लोग (Employer) भी लाभान्वित होंगे और छोटे स्तर के कर्मचारी और बेरोजगारों को रोजगार मिलेगा. इस तरह इस योजना के माध्यम से रोजगारदाता और बेरोजगार लोग दोनों को लाभ मिलते है.

 

इस योजना का लाभ लेने के लिए नियोक्ता को निम्नलिखित लोगों को रोजगार देना है

  • वह भारत देश के नागिरक होने चाहिए, उन लोगों के पास आधार कार्ड होना चाहिए.
  • बेरोजगार या छोटे स्तर के कर्मचारी जो 1 अप्रैल 2016 के बाद आपके व्यवसाय से जुड़े हो.
  • वो कर्मचारी पहले से ईपीएफ से जुड़े नहीं होना चाहिए यानी उसके पास पीएफ खाता नहीं होना चाहिए.
  • उन कर्मचारियों का वेतन 15 हजार से अधिक नहीं होना चाहिए.

अगर आप ऐसे लोगों को, कर्मचारियों को 1 अप्रैल 2016 के बाद रोजगार देते है तो सरकार आपको वित्तीय सहायता करेगी और आपको ईपीएफ में 8.33 प्रतिशत पैसा 3 साल तक जमा नहीं करना पड़ेगा. यह पैसा सरकार जमा करेगी.

 

. .

प्रधानमंत्री रोजगार प्रोत्साहन लोन योजना योग्यताPrime Minister’s Employment Promotion Loan Scheme Eligibility

  • प्रधान मंत्री रोजगार प्रोत्साहन लोन योजना का लाभ लेने के लिए, लाभार्थी भारत का निवासी होना चाहिए और वह अपने क्षेत्र का 3 वर्ष का स्थायी निवासी होना चाहिए.
  • लाभार्थी की शैक्षणिक योग्यता 8वीं पास से कम नहीं होनी चाहिए. अन्यथा उसे इस योजना का लाभ नहीं मिलेगा.
  • जो व्यक्ति इस योजना के तहत लाभ लेना चाहता है उसकी आयु 18 वर्ष से 35 वर्ष के बीच होनी चाहिए.
  • महिलाओं, अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति के लाभार्थी, पूर्व सैनिकों और विकलांग लाभार्थियों को अधिकतम आयु में 10 वर्ष की छूट दी गई है.

 

इन्हे इस योजना का लाभ नहीं मिलेगाThey will not get the benefit of this scheme

  • यदि आवेदक पहले से ही किसी बैंक या वित्तीय संस्थान से ऋण ले चुका है लेकिन उसने अभी तक भुगतान नहीं किया है तो उसे इस योजना के तहत लाभ नहीं मिलेगा.
  • इसके अलावा, इस योजना का लाभ उन लोगों को नहीं मिलेगा जिन्होंने इससे पहले किसी भी सब्सिडी योजना का लाभ लिया है.
  • जो नियोक्ता (Employers ) ईपीएफ से नहीं जुड़े हैं, उन्हें इस योजना का लाभ नहीं मिलेगा.
  • जिन नियोक्ताओ के पास एलआईएन नंबर (Labour Identification Number) नहीं होगा उन्हें इस योजना का लाभ नहीं मिलेगा.

 

योजना का कार्यकाल और प्रशिक्षणTenure of the plan and training

  1. इस योजना कार्यकाल 3 साल से 7 साल तक रहेंगा.
  2. व्यापार और सेवा क्षेत्र के लिए प्रशिक्षण 10 दिनों तक चलेगा.
  3. औद्योगिक क्षेत्र के लिए प्रशिक्षण 20 दिनों तक चलेगा.

 

योजना के लिए आवेदन करने का तरीकाHow to apply for this Scheme

  • इस योजना की अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए एवं ऑनलाइन आवेदन करने के लिए यहाँ क्लिक करे.

दोस्तों इस लेख में हमने “प्रधानमंत्री रोजगार प्रोत्साहन लोन योजना” से जुडी सभी आवश्यक जानकारी प्रदान की है. आशा है कि यह लेख आपके लिए उपयोगी रहा होंगा. यदि हाँ तो इस लेख को अधिक से अधिक लोगों तक शेयर करे ताकि इस योजना का लाभ अधिक से अधिक बेरोजगारों को मिल सके. यदि इस लेख से संबधित किसी का कोई सुझाव या सवाल है तो वे हमे कमेंट करके पूछ सकते है.

Related keyword: प्रधानमंत्री रोजगार प्रोत्साहन लोन योजना (PMRPY) की जानकारी. Pradhan mantri Rojagar Protsahan Loan Yojana ki Jankaari, PMRPY ki Jankari n Hindi.

यह लेख भी जरुर पढ़े

Advertisment..
One Comment

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *