ऑनलाइन फ्रॉड के शिकार हुए हैं तो ऐसे निकाले अपने पैसे

यदि आप ऑनलाइन ठगी के शिकार होते है, तो इन तरीकों से पाए वापस पैसे, ऑनलाइन धोखाधड़ी लेनदेन होती है तो ऐसे करे शिकायत, ऑनलाइन फ्रॉड की रिकवरी ऐसे की जा सकती है.

. .
ऑनलाइन फ्रॉड के शिकार हुए हैं तो ऐसे निकाले अपने पैसे

ऑनलाइन ठगी के शिकार होते है तो इन तरीकों से पाए वापस पैसे

यदि आप ऑनलाइन धोखाधड़ी (Online fraud) के शिकार हुए हैं, तो आप इस आर्टिकल में वर्णित तरीके से अपना पैसा निकाल सकते हैं. देश में ऑनलाइन लेन-देन (Online transaction) बढ़ने के कारण ऑनलाइन धोखाधड़ी के कई मामले सामने आ रहे हैं. इसे ध्यान में रखते हुए आरबीआई ने इसके लिए एक योजना बनाई है, यकीनन ग्राहक इस योजना को पसंद करेंगे.

दरअसल, आरबीआई ने ऑनलाइन धोखाधड़ी के शिकार लोगों की मदद करने के लिए नियमों में कुछ बदलाव किए हैं, जिसके लिए खाताधारक को बैंक में तीन दिनों के भीतर अपनी शिकायत दर्ज करनी होगी. इस तरह खाताधारक अपना पैसा जल्द वापस पा सकता है.

कई बार ऑनलाइन पैसे कटौती के मामले में खाताधारक बैंक जाकर शिकायत करते है, लेकिन बैंक अधिकारी उन्हें उनकी ही गलती बताकर उन्हें वहां से रवाना कर देते हैं. इसलिए, आरबीआई ने यह निर्णय लिया है और बैंकों को सख्त निर्देश दिया हैं कि ग्राहक के साथ धोखाधड़ी होने पर उन्हें भुगतान करना होगा. आइए इसे अच्छी तरह समझते हैं.

 

. .

ऑनलाइन ठगी के शिकार हुए हैं तो ऐसे निकाले अपने पैसे

>> यदि खाताधारक के बैंक खाते से बैंक की लापरवाही के कारण कोई धोखाधड़ी लेन-देन (Fraud transaction) होता है, तो ऐसी स्थिति में बैंक उसका पूरा भुगतान करेगा. चाहे खाताधारक इस बारे शिकायत दर्ज करें या न करें.

>> यदि किसी खाताधारक के बैंक खाते से तीसरे पक्ष का धोखाधड़ी का लेनदेन होता है, तो खाताधारक को 3 दिनों के भीतर बैंक को इसकी सुचना देना चाहिए. 

  • फिर ग्राहक को 10,000 या उससे कम की राशि का भुगतान किया जाएगा. ये सिर्फ 5 लाख तक के बचत खाते और क्रेडिट कार्ड जिनका वार्षिक औसत बैलेंस 25 लाख तक का है उन पर ही लागू होगा.
  • उसी तरह करेंट अकाउंट, ओवरड्राफ्ट अकाउंट और 5 लाख से ज्यादा की लिमिट के क्रेडिट कार्ड पर अधिकतम 25 हजार रुपए तक भुगतान किया जाएगा.
  • उसी तरह सेविंग्स बैंक अकाउंट (Savings bank account) के लिए इसकी लिमिट 5 हजार रुपए है.
ऑनलाइन फ्रॉड के शिकार हुए हैं तो ऐसे निकाले अपने पैसे

लेकिन ध्यान रखें, अगर इस तरह का फर्जी लेनदेन होता है, तो 3 दिन के भीतर बैंक को इसकी सुचना दिया जाना चाहिए. यदि आप सात दिन या उसके बाद बैंक को जानकारी देते हैं, तो बैंक का बोर्ड तय करेगा कि आपको कितना भुगतान करना है.

उसी तरह कुछ लोकप्रिय ऑनलाइन स्टोर, जिनका उपयोग ऑनलाइन लेनदेन के लिए सबसे अधिक किया जाता है. अगर ऐसे ऑनलाइन स्टोर से पेमेंट करने के दौरान आपका पैसा गलत तरीके से कटता है, तो आप सीधे मेल करके शिकायत कर सकते हैं और अपना पैसा वापस पा सकते हैं.

मोबीक्विक

. .

पेटीएम 

फ्लिपकार्ट

फ्रीचार्ज 

ईबे

एसबीआई बडी

. .

आक्सीजन वॉलेट

वोडाफोन वालेट

Author: Santosh Kumar

यह आर्टिकल भी जरुर पढ़े

Advertisment..
One Comment

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *