क्रेडिट लिंक सब्सिडी की पूरी जानकारी – Credit Link Subsidy ki Jankari

क्रेडिट लिंक सब्सिडी की पूरी जानकारी. क्या है क्रेडिट लिंक सब्सिडी. क्रेडिट लिंक सब्सिडी के फायदे. क्रेडिट लिंक सब्सिडी कौनसे काम आती है. Credit Link Subsidy ki Jankari.

नमस्कार दोस्तों Abletricks.Com में आपका स्वागत है. आज हम आपको इस लेख में क्रेडिट लिंक सब्सिडी के बारे में जानकारी देने जा रहे हैं. यह जानकारी कई लोगों के लिए उपयोगी हो सकती है.

इस लेख से हम जानेंगे, क्रेडिट लिंक सब्सिडी के क्या लाभ है. क्रेडिट लिंक सब्सिडी किस समय हमारे लिए उपयुक्त है? क्रेडिट लिंक सब्सिडी का उद्देश्य और क्रेडिट लिंक सब्सिडी के बारे में पूरी जानकारी. Credit Link Subsidy ki Jankari in Hindi.

. .
Credit Link Subsidy ki Jankari

क्रेडिट लिंक सब्सिडी की पूरी जानकारी – Credit Link Subsidy ki Jankari

क्या है ये क्रेडिट लिंक सब्सिडी:

आपको बता दें कि क्रेडिट लिंक्ड सब्सिडी योजना प्रधानमंत्री आवास योजना का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है. इस योजना के तहत, मध्यम आय वर्ग वाले लोगों को पहला घर बनाने या घर खरीदने के लिए लोन दिया जाता है. इसमें व्यक्ति को लोन के भुगतान में छूट दी जाती है. भारत सरकार की इस योजना के तहत, शहरी या ग्रामीण के मध्यम आय वर्ग वाले लोगों को कम ब्याज दरों में लोन और लोन में छूट (सब्सिडी) दी जाती है. जिस व्यक्ति या परिवार की आय थोड़ी अधिक है, उन्हें कम सब्सिडी मिलती है. इस सब्सिडी योजना के तहत किस श्रेणी के लाभार्थियों को कितनी सब्सिडी दी जाएगी, इस बारे में हम आगे जानेंगे.

. .

क्रेडिट लिंक सब्सिडी योजना के माध्यम से होम लोन पर बहूत अच्छी सर्विस मिल जाती है. जैसे कि आपके होम लोन पर कुछ प्रतिशत ब्याज लगता है, वह ब्याज सब्सिडी में से सरकार स्वय चुकाती है. इससे आपको लोन चुकाने में भी आसानी होगी.

 

किस श्रेणी के लाभार्थियों को कितनी सब्सिडी दी जाएगी

  • EWS: Economically weaker sections
  • LIG: Lower Income Group
  • MIG: Middle-income group

जिन लोगों की आमदनी तीन लाख रुपये सालाना से कम है वे EWS श्रेणी में आते हैं. छह लाख रुपये सालाना तक कमाने वाले लोग LIG श्रेणी में आते हैं. इन श्रेणियों में PMAY के तहत छह लाख रुपये तक के लोन पर 6.5% तक ब्याज सब्सिडी का फायदा उठाया जा सकता है. 

मतलब की इन दोनों श्रेणियों के लाभार्थियों को 6.5% तक ब्याज सब्सिडी का फायदा मिलेगा. जैसे- कोई भी बैंक आपके लिए हुए होम लोन आपसे जितना भी प्रतिशत ब्याज ले रही है उसमे से सरकार 6.5% ब्याज चुकाएगी, बाकि आपको देना होगा.

विशफिन के सीईओ ऋषि मेहरा के अनुसार, सालाना 12 लाख रुपये तक कमाने वाले लोगों को MIG-I श्रेणी में रखा गया है और इससे अधिक कमाने वाले लोगों को MIG-II श्रेणी में रखा गया. 

. .

इसमें MIG-I श्रेणी वाले लोग 9 लाख रुपये तक के होम लोन में 4% ब्याज सब्सिडी प्राप्त कर सकते हैं और MIG-II श्रेणी के लोग 12 लाख रुपये तक के होम लोन पर 3% प्रतिशत ब्याज सब्सिडी प्राप्त कर सकते हैं. इस तरह से आप क्रेडिट लिंक सब्सिडी का लाभ उठा सकते हैं.

 

क्रेडिट लिंक सब्सिडी की अवधि

क्रेडिट लिंक्ड सब्सिडी योजना के तहत, आप अधिकतम 20 साल की अवधि तक के लिए होम लोन ले सकते हैं. यह सीमा सभी श्रेणियों के लाभार्थियों के लिए है. EWS और LIG के लिए 31 मार्च 2022 तक लागू है और MIG के लिए अभी 31 मार्च 2020 तक समय है. इस स्कीम की समय सीमा पहले 31 मार्च 2019 तक थी लेकिन अब यह स्कीम 31 मार्च 2020 तक लागू रहेगी. कहने का मतलब, अब इस MIG की अवधि को अवधि को 12 म‍हीने तक बढ़ा दी है.

 

कहां से ले सकते हैं फायदा 

राष्ट्रीयकृत बैंक, हाउसिंग फाइनेंस कंपनियां, क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक, छोटे वित्त बैंक और कई संस्थान इस योजना को, इसके लाभों को ग्राहकों के लिए उपलब्ध करा रहे हैं. आपको बता दें कि इस योजना में नेशनल हाउसिंग बैंक और हुडको शामिल हैं.

. .

दोस्तों इस में लेख हमने “क्रेडिट लिंक सब्सिडी” से संबधित जरुरी जानकारी दी है. आशा करते है की हमारा यह लेख आपको उपयोगी लगा होगा. अगर हाँ तो इस लेख को ज्यादा से ज्यादा लोगों शेयर करे ताकि इस स्कीम की जानकारी सभी को प्राप्त हो सके. अगर इस लेख से संबधित किसी का कोई भी सुझाव या सवाल है तो वह हमे कमेंट करके पूछ सकते है.

लेखक: राजेश कुमार

Related keyword: क्रेडिट लिंक सब्सिडी की पूरी जानकारी. क्या है क्रेडिट लिंक सब्सिडी. क्रेडिट लिंक सब्सिडी के फायदे. क्रेडिट लिंक सब्सिडी कौनसे काम आती है. Credit Link Subsidy ki Jankari.

यह भी जरुर पढ़े:

Advertisment..
One Comment

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *