अन्ना हजारे जी के बारे में रोचक जानकारी | Anna Hajare ki Jivani in Hindi

अन्ना हजारे की जीवनी, अन्ना हजारे की कहानी, अन्ना हजारे का जीवन परिचय, अन्ना हजारे के बारे में रोचक जानकारी, Biography Anna Hajare, Anna Hajare ki Jivani in Hindi.

. .
अन्ना हजारे जी के बारे में रोचक जानकारी

नमस्कार दोस्तों.. एबलट्रिक्स डॉट कॉम में आपका स्वागत है.. आज हम इस आर्टिकल में आपको अन्ना हजारे जी के बारे में बताने वाले है। अन्ना हजारे की जीवनी, अन्ना हजारे का जीवन परिचय, कौन है अन्ना हजारे एवं इनके बारे में कुछ रोचक तथ्य, जानकारी, आज हम इस आर्टिकल में शेयर करने वाले है।

 

अन्ना हजारे जी के बारे में रोचक जानकारी

अन्‍ना हजारे जी का पूरा नाम किसन बाबट बाबुराव हजारे है| इनका जन्म 15 जून 1937  में हुआ| इनका जन्म रालेगन सिद्धि, जिला अहमदनगर, महाराष्ट्र में एक मराठा किसान परिवार में हुआ| इनके पिता का नाम बाबुराव हजारे है| इनके माता का नाम लक्ष्मीबाई हजारे है| इन्होने विवाह नहीं किया| ये हमेशा कहते है जो अपने लिए जीते है वो मर जाते है, जो समाज के लिए जीते है वो मरकर भी हमेशा के लिए जिन्दा रहते है|

आपको बता दे कि, अन्ना हजारे जी का बचपन बहुत गरीबी में गुजरा है| उनके पिताजी खेती किसानी करते थे| वैसे उनके दादाजी फ़ौज में थे| दादाजी के मृत्यु के सात वर्षों बाद अन्ना का परिवार रालेगन आ गया। अन्ना हजारे जी के परिवार में उनकी माता पिता के अलावा उनके छह और भाई-बहन है|

. .

अन्ना के परिवार की आर्थिक स्थिति सही नहीं थी इस वजह से अन्ना की बुआ ने अन्ना को मुम्बई ले गईं| आपको बता दे कि अन्ना ने मुंबई में सातवी तक पढाई किया| उसके बाद उन्होंने आर्थिक स्थिति का सामना करने के लिए दादर स्टेशन के बाहर एक फूल बेचनेवाले की दुकान में 40 रुपये के वेतन पर काम किया| उसके कुछ ही दिनों के बाद अन्ना ने फूलों की अपनी दुकान खोल ली फिर कुछ दिनों बाद उन्होंने अपने दो भाइयों को भी रालेगन गाव से मुंबई बुला लिया|

लेकिन उनका मन उस काम में नहीं लग रहा था उसके बाद वे सन 1963 में वह फौज में शामिल हो गए| उनकी पहली नियुक्ति बतौर ड्राइवर के रूप में पंजाब में हुई| बताया जाता है की उन्होंने लगभग सेना में १५ वर्षों तक काम किया। सेना में ड्यूटी के दौरान नई दिल्ली रेलवे स्टेशन से उन्होंने स्वामी विवेकानंद जी की एक पुस्‍तक “कॉल टु दि यूथ फॉर नेशन” खरीदी और उन्होंने उसे पढ़ा उसके बाद उनके जिंदगी में बहुत बड़ा बदलाव हुआ| उसके बाद उन्होंने अपनी जिंदगी समाज को समर्पित करने की ठान ली|

लगभग 15 साल ड्यूटी करने बाद अर्थात सेवानिवृत्त होने के बाद उन्होंने अपना सारा जीवन सामाजिक कार्य करने में व्यतीत कर किया| उनके गांव में बिजली और पानी ज़बरदस्त कमी थी, उसकी पूर्ति किया| उन्होंने अपनी जमीन बच्चों के हॉस्टल के लिए दान कर दिया| उनके कहने पर गांव में जगह-जगह पेड़ लगाए गए| ऐसे ही धीरे धीरे उन्होंने अपने गांव की तस्वीर ही बदल दी| 

बताया जाता है कि, आज भी अन्ना हजारे जी की पेंशन का पूरा पैसा गांव के विकास कार्यों में खर्च होता है| वह गांव के एक मंदिर में रहते हैं और हॉस्टल में रहने वाले बच्चों के लिए बनने वाला खाना ही खाते हैं| आज उनके गांव का हर मनुष्य आत्मनिर्भर है| उनके गांव के नजदीकी गांवों के लिए भी उनके गांव से चारा, दूध आदि जाता है|

 

. .

अन्ना के प्रमुख आन्दोलन

  • महाराष्ट्र भ्रष्टाचार विरोधी जन आंदोलन 1991 
  • सूचना का अधिकार आंदोलन 1997-2005 
  • महाराष्ट्र भ्रष्टाचार विरोधी आंदोलन 2003 
  • लोकपाल विधेयक आंदोलन 2011

 

सन्मान एवं पुरस्कार

  • पद्मभूषण पुरस्कार (१९९२) 
  • पद्मश्री पुरस्कार (१९९०) 
  • इंदिरा प्रियदर्शिनी वृक्षमित्र पुरस्कार (१९८६) 
  • महाराष्ट्र सरकार का कृषि भूषण पुरस्कार (१९८९) 
  • यंग इंडिया पुरस्कार 
  • मैन ऑफ़ द ईयर अवार्ड (१९८८) 
  • पॉल मित्तल नेशनल अवार्ड (२०००) 
  • ट्रांसपेरेंसी इंटरनेशनल इंटेग्रीटि अवार्ड (२००३) 
  • विवेकानंद सेवा पुरुस्कार (१९९६) 
  • शिरोमणि अवार्ड (१९९७) 
  • महावीर पुरस्कार (१९९७) 
  • दिवालीबेन मेहता अवार्ड (१९९९) 
  • केयर इन्टरनेशनल (१९९८) 
  • बासवश्री प्रशस्ति (२०००) 
  • GIANTS INTERNATIONAL AWARD (२०००) 
  • नेशनलइंटरग्रेसन अवार्ड (१९९९) 
  • विश्व-वात्सल्य एवं संतबल पुरस्कार 
  • जनसेवा अवार्ड (१९९९) 
  • रोटरी इन्टरनेशनल मनव सेवा पुरस्कार (१९९८) 
  • विश्व बैंक का ‘जित गिल स्मारक पुरस्कार’ (२००८) 

 

अन्ना हजारे समाजसेवा और अपने आंदोलनो के वजह से बहुत अधिक प्रसिद्ध हुए| आज उन्हें बच्चा बच्चा अच्छे तरह जानता है| बता दे कि, उनके कामकाज बिलकुल गांधीजी की तरह है, इसलिए उन्हें कुछ लोग आधुनिक युग का गान्धी भी कहते है|

अन्ना ने बिना हथियार इस्तेमाल किये भूख हड़ताल और आमरण अनशन के जरिए भ्रष्ट प्रशासन को पद छोड़ने एवं सरकारों को जनहितकारी कानून बनाने पर मजबूर कर दिया है| बता दे कि, अन्ना हजारे गांधीजी के ग्राम स्वराज्य को भारत के गाँवों की समृद्धि का माध्यम मानते हैं|

 

. .

>>> अन्ना हजारे के सकारात्मक एवं अनमोल विचार

 

Author: Priyanka

यह भी पढ़े:

 

Tagsअन्ना हजारे की जीवनी, अन्ना हजारे की कहानी, अन्ना हजारे का जीवन परिचय, अन्ना हजारे के बारे में रोचक जानकारी, Biography Anna Hajare, Anna Hajare ki Jivani in Hindi.

 

ये आर्टिकल भी जरुर पढ़े :

देशभक्ति से जुड़े 5 डायलॉग जो आपके दिल में देशभक्ति जगा देंगे यह 10 फ़िल्मी डायलॉग जो आपको सफलता की ओर खीचते है
नासा के बारे में 10 रोचक तथ्य, जाने यहां माँ काली के बारे में 11 रोचक बाते, जो बहुत से लोग नहीं जानते
शेर माँ दुर्गा का वाहन कैसे बना, जाने यहां माँ दुर्गा की उत्पत्ति कैसे हुई, जाने यहां
महाभारत के अर्जुन के बारे में कुछ रोचक बाते महारथी कर्ण के बारे में कुछ रोचक बाते
भगवान् शिव शंकर के बारे में रोचक

इस तरह की रोचक जानकारी पाने के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक जरुर करे और इस लेख को अपने दोस्तों में एवं सोशल साइट्स पर शेयर करे।

Advertisment..
2 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *