भक्षक कभी रक्षक नहीं बनता – पढ़िए एक दर्द भरी कहानी

भक्षक कभी रक्षक नहीं बनता - पढ़िए एक दर्द भरी कहानी

भक्षक कभी रक्षक नहीं बनता – पढ़िए एक दर्द भरी कहानी 

एक बार की बात है, एक बडा सा तालाब था जिसमे बहुत सी मछलियां रह रही थी। एक हंस जो हर दिन तालाब पर आता था पर उसके हाथ एक भी मछली नही लगती थी। जैसे ही हंस तालाब के पास आता.. सारी मछलियां भाग जाती।

एक दिन हंस तालाब के पास चुपचाप गया और मछलियो से कहने लगा डरो मत मै तुम्हारा मित्र हु.. मै तुम्हे किसी भी प्रकार की हानि नही पहुचाऊंगा। इस लिए मै तुम्हे एक बात बताना चाहता हु.. जल्दी ही ये तालाब सूखने वाला है, इस तालाब का पानी मनुष्य किसी कार्य में लगाने वाला है.. मछलियां इस बात को सुनकर घबरा गई और कहने लगे ये तालाब सुख जाएगा तो हम कहा जाएगे.. पानी नही रहेगा तो हमारा जीवन खतरे में होगा और हम मर जाएंगे।

केकड़ा बोला जल्द ही हमे ऐसा तालाब या नदी ढूढना पड़ेगा जहा हम रह सकते है.. हंस मछलियो की बात सुनकर बोला घबराओ मत मै तुम्हारी सहायता करुगा मै तुम्हे एक ऐसी जगह पर ले जाउगा जहाँ भरपूर पाणी हो, मै एक ऐसी जगह जानता हु जो यहा से थोड़ी ही दुरी पर है, मछलियां बोली.. हंस क्या तुम हमें वहाँ ले जा सकते हो, हंस मुस्करा कर बोला.. तुम मेरे मित्र हो तुम्हारी साहयता मै जरुर करूगां। यह कहकर हंस ने मछलियो को अपने बातो में फसा लिया और बेचारी भोली भाली मछलियां हंस की बातो में आ गई ।
.
मछलियां बोली पर तुम हम को एक साथ कैसे ले जाओगे.. हंस बोला मै अपनी चोच में डालकर तुम सबको ले जाउगां और दुसरे तालाब में छोड़ दुगाँ ऐसी रोज एक मछली ले जाउगा। मछलियां सोचने लगी की वह हंस हमारी कितनी मदत कर रहा है.. मछलियां इस बात से अंजान थी की हंस उन्हें बचा नही रहा था बल्कि अपनी भूख मीठा रहा था।
.
एक दिन फिर हंस तालाब के पास गया और मछलियों को कहने लगा तुम्हारे साथी तो उस तालाब में बहुत खुश है ऐसा कहकर उसने फिर एक मछली को ले गया और चटान पर उसे खा गया। दुसरे दिन हंस तालाब पर गया केकड़ा हंस से बोला अच्छा अब तुम मुझे ले जाओ.. हंस मन ही मन खुश हो गया की आज उसे केकड़ा खाने को मिलेगा, हंस ने केकड़े को चोच में पकड़ा और उड़ गया।
.
हंस उसे एक बड़े से चटान की तरफ ले जाने लगा.. केकड़े की नजर उस चटान पर पडी.. जैसे ही चटान के पास आए तो देखा की, चटान पर मछलियो की हडिया थी.. केकड़े को हंस की करतूत समझ आ गई.. केकड़े ने बिना देर किये हंस की गर्दन को अपने हाथो में पकड कर दबाने लगा.. हंस चिल्लाया और फढफढाते हुए पाणी में गिर कर मर गया।
.
केकड़े ने जाकर यह बात मछलियों को बताई मछलियों को अपनी बहनों को खोकर बहुत दु:ख हुआ। तो मित्रो हमे इस कहानी से यह सीख मिलती है की झूटे लोग और मक्कारों से सावधान रहना चाहिए.. हमें ये ध्यान में रखना चाहिए की भक्षक कभी रक्षक नहीं बनता।
.
Related Keyword : Health Records, Personal Health Record, Government health insurance , Life Insurance, Donate Your Health Data to Medical Science, Medical Loan.
.
ये आर्टिकल भी जरुर पढ़े
.
 Motivational Stories  रोचक तथ्य (Interesting fact)
दिल को छू लेने वाली एक कहानी  व्हाट्सएप के बारे मे कुछ रोचक बाते
 दोस्ती की एक कहानी चाँद के बारे में रोचक बाते
 2 हंस और एक कछुआ-पढ़िए इनकी कहानी  सूर्य के बारे में रोचक तथा महत्वपूर्ण बाते
 पढ़िए, विश्वास और हिम्मत की एक कहानी भारत के बारे में कुछ रोचक बाते
 जानिये माँ दुर्गा की उत्पत्ति कैसे हुई ब्रूस ली के बारे कुछ रोचक बाते
शेर दुर्गा माता का वाहन कैसे बना  ये है दुनिया के 10 अजूबे
 जानिए, एकता की ताकत महारथी कर्ण के बारे में रोचक बाते
सच्चे प्यार की एक ऐसी कहानी.. जो आपके दिल को छू लेगी मंगल ग्रह के बारे कुछ ऐसी बाते जो शायद आप नहीं जानते
परिश्रम ही सच्चा धन होता है, पढ़िए एक किसान की कहानी एलियन के बारे मे किया खुलासा AbleTricks.Com ने

 

Advertisment..

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *