पृथ्वी पर मनुष्य की उत्पत्ति कैसे हुई | Manav Ki Utpatti Kaise Hui In Hindi

आज हम इस आर्टिकल में मनुष्य की उत्पति कैसे हुई है इसके बारे में रहष्यमय जानकारी जानने वाले है। धरती पर मानव जीवन की उत्पत्ति कैसे हुई, मनुष्य जीवन की उत्पत्ति कब हुई, मनुष्य रचना कैसे हुई, मनुष्य कैसे बना, मानव जीवन का इतिहास : History of human life in hindi.

Manav Ki Utpatti Kaise Hui In Hindi

 धरती पर मनुष्य की उत्पत्ति कैसे हुई : How did man originate

 विज्ञानं तथा वैज्ञानिकों के इतने प्रयासों के बाद भी पृथ्वी पर मनुष्य जीवन की उत्पत्ति कैसे हुई इसका अभी तक कोई सटीक प्रमाण नहीं दे पाया है। यह अभी तक एक रहस्यमय पहेली ही रही है। लेकिन सदियों से पृथ्वी पर 2 मत चलते आ रहे है धार्मिक और वैज्ञानिक। लेकिन दोनों के मतों द्वारे अभी तक इस अनसुलझी पहेली कोई सटीक प्रमाण नहीं मिला है।
 .
विज्ञानं वैज्ञानिकों के इतने तरक्की के बावजूद यह खोज नहीं कर पाई की मनुष्य जीवन की उत्पत्ति कैसे हुई, धार्मिक किताबे तथा धार्मिक मान्यताओ के अनुसार बताया गया है की, भगवान ब्रम्हा ही इस पूरी सृष्टि का रचयिता है। भगवान ब्रम्हा ने ही मनुष्य की उत्पत्ति की है, लेकिन विज्ञान इसे बिल्कुल भी नहीं मानता है। विज्ञानं का कहना है पृथ्वी के सभी प्राणी विकास की प्राकृतिक प्रक्रिया है।
 .
 उदहारण के तौर पर, मनुष्य वानर से लेकर मनुष्य होने तक विभिन्न अवस्थाओं से गुजरते हुए, अनगिनत बदलाव के साथ मनुष्य रूप में विकसित हुवा है। दिनों दिन मनुष्य में बदलाव होते जा रहा है, मनुष्य विकशित हो रहा है, यह सब एक प्राकृतिक प्रक्रिया है।
 .
जानकारी के अनुसार विज्ञानं तथा धार्मिक मान्यताओं ने पृथ्वी पर मनुष्य की उत्पत्ति कैसे हुई इस बारे में कोई ठोस प्रमाण नहीं दिया है इसलिए कई लोग भगवान ने मनुष्य की रचना की है कहते है तो कोई भगवान को बिल्कुल भी नहीं मानते उनका कहना है पृथ्वी पर सभी जिवो की उत्पत्ति एक प्राकृतिक प्रक्रिया है, उसमे शामिल मनुष्य भी है। इसलिए यह एक रह्ष्यमय और अनसुलझी कहानी बन गई है।
 .
अगर उपरोक्त जानकारी से जुडी आपके पास कोई ठोस जानकारी हो तो हमें जरूर बताये तथा आपके अनुसार धार्मिक मान्यताओं को या वैज्ञानिकों ज्यादा महत्व देना चाहिए हमें कमेंट करके जरूर बताये।
.
Related Article
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
. .

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *